द एक्स फेक्टर

कुछ जटिल पल ऐसे होते हैं जब हम अपनी धारणा बनाकर जीते हैं और समय उन धारणाओं को तोड़ एक नई तरह की सोच हमें थमा देता है। आज की कहानी उसी सोच के बनने और बिगड़ने पर।

किस्मत

किस्मत

तुम्हें पाने के लिए तप कर सती होना भी मंज़ूर था मुझे, मगर तुम मेरे शिव नहीं थे। एक प्रेमिका से अर्धांगिनी बनने की आकांक्षा थी, मगर शायद तुम ही काबिल नहीं थे मेरे अर्धनारीश्वर बनने के। अपना तन-मन सब तुम्हें सौंप दिया था, बस तुम्हारी आंखों में बसे विश्वास के पर्दे को देखकर मगर […]

ख़त की प्रेम कहानी

ख़त की प्रेम कहानी

एक फौजी जब अपने कैम्प पहुंचता है, तब उसे अपने पास एक खत मिलता है। यह खत उसकी प्रेमिका ने बड़ी ही चाहत से लिखा है:  तुम्हारे जाने का वक्त करीब आ रहा है। एक ओर धड़कनों ने बगावत करना शुरू कर दिया है, वहीं मन बेचैन-सा होने लगा है। अब मेरे फोन समेत दिनचर्या […]

बारिश के दिन

बारिश के दिन

कुछ लोग हमारे जीवन में आते ही उसका अटूट हिस्सा हो जाते हैं, जीवन में उनकी जगह कभी कोई नहीं ले सकता| बहुत भावुक होने की एक बुरी बात और अच्छी बात शायद यही है | तो आइए सुनते हैं आज की कहानी बारिश के दिन (या बारिश के प्रेम पत्र)

जीवन साथी

जीवन साथी

लोग कहते हैं कि एक परिवार का होना बेहद जरूरी है। दुख की घड़ी में कोई तो अपना हो जो साथ हो। अपना परिवार बनाने के लिए लोग शादी करते हैं। अपना जीवनसाथी चुनते हैं। जीवनसाथी यानि जीवन भर का साथी। मतलब जब तक आप हैं, तब तक आपका साथी है और जब तक आपका […]

रविवार और वेलेंटाइन

रविवार और वेलेंटाइन

दुनिया में अगर आप किसी एक दिन का इंतज़ार करते हैं तो वह है रविवार| हफ़्ते भर की भागदौड़ के बाद सुकून भरा इकलौता दिन| फिर अगर उस दिन भी कोई आपको नींद से जगाने लगे तो बेहद चिढ़ होती है| गुस्से की भी अपनी एक उम्र होती है और जोश की भी| वह जोश […]

मखमली घास वाले दिन

मखमली घास वाले दिन

अक्टूबर ने अभी अंगड़ाई ही ली थी| इन दिनों सूर्य अपनी रौशनी बिखेरता और जल्दी लौट जाता | वे नई उम्र के अल्हड़ लड़के-लड़कियाँ कॉलेज लॉन में यूँ ही पड़े रहते जैसे बारिश के बाद ओस घास पर पड़ी चमकती थी | “याद है न तुमको अगली क्लास है अभी कुछ देर में ही, यहीं बैठना है कि चलोगे भी?” […]

लास्ट सीन

लास्ट सीन

दुनिया की हर समस्या इस लास्ट सीन से जुड़ी होती है | प्रेम का अंत हो या प्रेम की शुरुआत सभी एक  दूसरे का लास्ट सीन देखकर सोते-जागते हैं | कभी-कभी ये लास्ट सीन ब्रेकअप के बाद दिए जाने वाले हज़ारों तानों और गालियों में तब्दील हो जाता है| दो प्रेमियों में से कौन आगे बढ़ गया है,

She won more than a Competition

She won more than a Competition

Chhavi was sitting with her grandmother, watching television, and her favourite serial was on. She lived in a joint family with her 4 elder brothers and sisters. All of them were in school. She would be joining them next year. The little girl was too engrossed when her mother entered the room. TV was her […]