Champion Hain Hum

Champion Hain Hum

295.00

ध्यान से देखो, हर बच्चे के ख़्वाब में पंख फड़फड़ाता एक पक्षी है; उसे पहचानों, उसकी क़द्र करो. वह तुम्हारे लिए असमान रचने वाला है. ये उन बच्चों की सच्ची और प्रेरक कहानियाँ हैं, जिनसे यह अपेक्षा भी नहीं की जा सकती थी कि वे अपने परिवार और परिवेश में कोई बदलाव ला सकते हैं. मगर यही बात तो इन्हें ख़ास बनाती है. इनकी कहानियाँ बताती हैं कि हर बच्चे के भीतर सौन्दर्य, प्रेम और न्याय की चेतना मौजूद होती है. इसलिए वे परम्परा से चली आ रही बुराइयों को ज्यों का त्यों स्वीकार नहीं कर लेते, कुछ इनके ख़िलाफ़ खड़े भी होते हैं. ऐसा हमेशा होता आया है. और होता रहेगा. एक जीवंत समाज को चाहिए कि अपने बच्चों को सिर्फ़ सिखाये ही नहीं, उनसे सीखे भी

Availability: Available on backorder SKU: US-28075 Categories: , ,
View cart

Description

ध्यान से देखो,
हर बच्चे के ख़्वाब में पंख फड़फड़ाता एक पक्षी है;
उसे पहचानों, उसकी क़द्र करो.
वह तुम्हारे लिए असमान रचने वाला है.
ये उन बच्चों की सच्ची और प्रेरक कहानियाँ हैं, जिनसे यह अपेक्षा भी नहीं की जा सकती थी कि वे अपने परिवार और परिवेश में कोई बदलाव ला सकते हैं. मगर यही बात तो इन्हें ख़ास बनाती है. इनकी कहानियाँ बताती हैं कि हर बच्चे के भीतर सौन्दर्य, प्रेम और न्याय की चेतना मौजूद होती है. इसलिए वे परम्परा से चली आ रही बुराइयों को ज्यों का त्यों स्वीकार नहीं कर लेते, कुछ इनके ख़िलाफ़ खड़े भी होते हैं. ऐसा हमेशा होता आया है. और होता रहेगा. एक जीवंत समाज को चाहिए कि अपने बच्चों को सिर्फ़ सिखाये ही नहीं, उनसे सीखे भी.

Additional information

Weight 0.2 g
Dimensions 7.81 × 5.06 cm
Author

Devendra Tak, Rashmi Bansal

Format

Paperback

ISBN

9789392088049

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Champion Hain Hum”

has been added to your cart:
Checkout