अरुष और अत्ताफ़

अरुष और अत्ताफ़

कश्मीर की खूबसूरती, आज भी अपने शबाब पर थी। बर्फीली हवाओं और सफ़ेद चादर में लिपटी पहाड़ियों के बीच, सफ़ेद दुप्पटे में ढकी अरुष, अपनी मोहब्बत अत्ताफ़ का इंतजार कर रही थी। ठंड की लाली अरुष के गालों पर झलक रही थी और आंखें इंतज़ार में बिछीं थी। अरुष और कश्मीर की सुंदरता एक-दूसरे का […]

मन खानाबदोश

मन खानाबदोश

पहली बार सिगरेट का कश लगाते हुए मैंने उससे पूछा, “क्या लगता है अरविंद, कभी तुम्हें कोई किताब लिखने का मौका मिले तो कौन सा विषय चुनोगे?” कश्मीर की फ़िज़ाओं में गहरी साँस खींचते हुए अरविंद बोला, “यार वैसे तो कभी सोचा नहीं मैंने इसके बारे में, पर ये बताओ अचानक से ऐसा सवाल पूछने […]